40.1 C
New Delhi
Thursday, May 23, 2024

55 दिवसीय शिव महापुराण: शिव दरबार में 10 करोड़ दिव्य मंत्रों से हुई अतिदिव्य शिवलिंग की स्थापना

Must read

अभिषेक हुआ शुरू, 55 दिन तक अंखड रूप से चलेगा यह अभिषेक

छतरपुर, नई दिल्ली, 11 अगस्त :

श्री कृष्णगिरी पार्श्व पदमावती शक्तिपीठाधिपति परम पूज्य गुरुदेव राष्ट्रीय संत श्री वसंत विजय जी महाराज साहेब के पावन सानिध्य में 11 अगस्त से 5 अक्तूबर 2023 तक चलने वाले 55 दिवसीय शिव महापुराण, यज्ञ, अखंड रुद्राभिषेक, एक करोड़ 11 लाख पार्थिव शिवलिंग की स्थापना पूजा महाउत्सव 2023 का आज ढोल नगाड़ों के बीच कलश स्थापना के साथ भव्य रूप से शुभारंभ हुआ। संत वसंत विजय जी महाराज साहेब ने दैविक मंत्रों के साथ कलश की स्थापना की।

छतरपुर मार्कंडेय हाल में आयोजित महाउत्सव में सुबह शुभ बेला में यज्ञ पूजा के साथ ही 7 बजे पार्थिव शिवलिंग स्थापना पूजा शुरू हुई। जिसमें दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों से भारी संख्या में शिव दरबार पहुंचे भक्तों ने पार्थिव शिवलिंगों का निर्माण करके अपने जीवन को धन्य किया। इसके बाद विद्वान पंडितों द्वारा पूजन-अर्चन करके दोपहर 2 बजे शिवलिंगों का विसर्जन किया गया। शिव दरबार में आज 10 करोड़ दिव्य मंत्रों से सिद्ध अतिदिव्य शिवलिंग की स्थापना हुई । जिसका विशेष मंत्रोंच्चार के साथ अभिषेक शुरू हुआ। यह अभिषेक 55 दिन तक अखंड रूप से चलेगा ।

बता दें कि इस शिवलिंग की महिमा यह है कि 40 वर्ष से निराहार रहकर सिर्फ दूध पर जीवन जीने वाले एक सिद्ध योगी संत ने जिन्होंने इस शिवलिंग को 10 करोड़ मंत्रों के जाप से सिद्ध किया। भगवान शंकर के उपासक इस संत को भगवान शंकर ने स्वप्न में आकर यह बताया कि यह शिवलिंग श्री कृष्णगिरी पार्श्व पदमावती शक्तिपीठाधिपति राष्ट्रीय संत परम पूज्य वसंत विजय जी महाराज साहेब के पास पहुंचा दो। उस संत के सेवक इस दिव्य शिवलिंग को कृष्णागिरी लेकर आए और संत वसंत विजय जी को प्रदान किया। दिल्ली और आस-पास के क्षेत्रवासियों के लिए यह अनुपम अवसर है कि इस शिवलिंग अभिषेक और दिव्य शिव दरबार का दर्शन करें ।

शिव दरबार में अपनी अमृतमयी वाणी से भक्तों को भक्ति में सराबोर करते हुए संत श्री वसंत विजय महाराज साहेब ने कहा कि सावन का महीना उल्लास का महीना है। सावन माह में भक्ति अत्यंत शुभ फलदायक है। आज पार्थिव शिवलिंग स्थापना करने और गुरुदेव की कथा सुनने शिव दरबार पहुंचे भक्त भावविभोर हो उठे। दिल्ली के फतेहपुर से गुरुदेव की कथा सुनने आए अशोक ने कहा कि ऐसी दिव्य कथा का श्रवण उन्होंने जीवन में पहली बार किया है। गुरुदेव की वाणी जीवन में उमंग और उत्साह का ऐसा संचार करती है कि लगता है कि उनके सामने बैठकर उनकी वाणी सुनते ही जाएं। बिहार से आयी निशिका और रिया ने कहा कि उन्हें गुरुदेव की कथा सुनकर बहुत ही अच्छा लगा। निशिका ने कहा कि वे अपने दादा जी के इलाज के लिए दिल्ली आई हुई थी। जब उन्होंने गुरुदेव की शिवमहापुराण कथा के बारे में सुना तो वो खुद को रोक नहीं पायी और शिव दरबार पहुंच गई।

संत श्री वसंत विजय महाराज साहेब के सानिध्य में आयोजित हो रहे इस 55 दिवसीय महोत्सव यज्ञ पूजा अतिविशेष औषधियों से शुरू हो रहा है। पुराण, वेद शास्त्र हमारे आज के जीवन में कैसे हमें प्रेरणा दे सकते हैं इस पर गुरुदेव 55 दिन तक अति भव्य रूप से कथा करेंगे जो आपके जीवन में नई रोशनी लेकर आएगी। जीवन की दिशा और दशा बदलने वाले इस सुनहरी अवसर का भरपूर लाभ उठाएं।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने इंडियन पब्लिशर्स कॉन्फ्रेंस 2023 का किया उद्घाट

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article