39 C
New Delhi
Wednesday, May 29, 2024

कोतवाली पुलिस ने मात्र तीन दिन में किया हत्या की घटना का खुलासा

Must read

बीते शुक्रवार की रात खौद कलां निवासी युवक की हुई थी निर्मम हत्या, शव को जलाने का भी किया गया था प्रयास

स्वार. बीते चार दिन पूर्व युवक की निर्मम हत्या कर उसके शव को जलाने का प्रयास करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार कर कोतवाली पुलिस ने घटना का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों को पुलिस अभिरक्षा में न्यायालय में पेश किया है।

ऑपरेशन त्रिनेत्र की मदद से मिली सफलता


बताते चलें की बीते शुक्रवार की रात खौद कलां निवासी पोपी सिंह पुत्र सुंदरलाल की किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या कर दी गयी। यही नहीं हत्यारों ने शव पर पेट्रोल छिड़कर शव को जलाने का भी प्रयास किया गया था। लेकिन शव झुलस कर रह गया था। घटना बेहद गंभीर थी जिसके चलते चौकी थाने की पुलिस सहित बिलासपुर सीओ रवि खोकर व पुलिस अधीक्षक राजेश द्विवेदी ने भी घटना स्थल पर जाकर मुआयना किया। वही टीम गठित कर घटना के शीघ्र खुलासे के लिए कोतवाली प्रभारी कोमल सिंह को निर्देश जारी किए।

अवैध संबंध के मामले में छीटाकशी करने पर की थी हत्या

वहीं पुलिस ने मृतक के भाई बीरेंद्र की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। अब चुकी मृतक बेहद सीधे स्वभाव का बताया जा रहा था। जिसके चलते उसका किसी से झगड़ा होने की संभावना भी नहीं दिखाई दे रही थी। जिसपर कोतवाली प्रभारी कोमल सिंह ने सबसे ऑपरेशन त्रिनेत्र के अंतर्गत मुख्य मार्गों व गांव गांव में लगे कैमरों की सीसीटीवी फुटेज खंगालनी शुरू कर दी।

पुलिस टीम ने घटना से सम्बन्धित अभियुक्तों की तलाश व साक्ष्य संकलित किये गये तो राहुल (काल्पनिक नाम) उम्र14 बर्ष विपिन (काल्पनिक नाम) उम्र 16 बर्ष थाना स्वार के नाम प्रकाश में आये। सोमवार को पुलिस टीम अभियोग के वांछित अभियुक्तों की तलाश में जुटी हुई थी तभी मुखबिर ने पुलिस टीम को सूचना दी कि जिन अपराधियों की आपको तलाश है वह बाजपुर टांडा मार्ग पर अहसान के प्लाट के पास कहीं जाने की फिराक में खडे हैं। सूचना पर बताये स्थान पर आये तो दो व्यक्ति खड़े हैं।

पुलिस टीम ने बिना किसी देरी के नियामानुसार पुलिस अभिरक्षा में लेते हुए पूछताछ की गयी तो किशोर अपचारियों नें अपने जुर्म का इकबाल करते हुए बताया कि राहुल( काल्पनिक नाम) की बहन निधि(काल्पनिक) उम्र 18 वर्ष का मृतक पोपी सिंह के भतीजे अनिल पुत्र वीरेन्द्र सिंह से नाजायज सम्बन्ध थे। मृतक पोपी सिंह शराब पीने का आदि था, जो राहुल की बहन के सम्बन्ध में राहुल व विपिन से गलत कमेंट व छींटाकशी कर ताना मारता रहता था । जिससे राहुल व विपिन अपने आपको अपमानित महसूस करते थे। रोज रोज की तानाकशी से क्षुब्ध होकर राहुल ने अपने तहेरे भाई विपिन के साथ मिलकर अनिल व पोपी सिंह की हत्या करने की ठान ली थी।

अनिल काम करने के लिये उत्तराखणड चला गया था। जिस कारण अनिल की हत्या नहीं कर सके। राहुल व उसके तहेरे भाई विपिन ने शुक्रवार रात में भीष्म सिंह के खेत में ले जाकर पोपी सिंह की पाटलों (धारदार) से गर्दन पर वार करके हत्या कर दी। किशोर अपचारियों ने अपने फिंगर प्रिंट एवं मृतक की पहचान मिटाने के लिए शव को जलाने का प्रयास किया था।किशोर अपचारियों की निशादेही पर हत्या में प्रयुक्त दो अदद पाटल एवं घटना के दौरान किशोर अपचारियों के पहने हुए रक्त रंजित कपड़े बरामदगी किए। पुलिस ने किशोर अपचारियों के खिलाफ विधिक कार्यवाही कर न्यायालय में पेश किया है। मर्डर का खुलासा करने वाली टीम में कोतवाली प्रभारी कोमल सिंह, मसवासी चौकी प्रभारी हरेन्द्र सिंह, हेड कांस्टेबल अरबिन्द कुमार, कांस्टेबल रजनीश कुमार शामिल रहे।

सड़क दुर्घटना में पूर्व जिला पंचायत सदस्य की मौत, परिजनों में छाया मातम

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article