Home क्राइम नीलगाय के बच्चों को पीपली वन छोड़कर आ रहे वन विभाग के...

नीलगाय के बच्चों को पीपली वन छोड़कर आ रहे वन विभाग के चौकीदार से मारपीट

0

पीड़ित चौकीदार ने एक नामजद सहित अज्ञात के खिलाफ दी तहरीर

रामपुर स्वार. नीलगाय के बच्चों को पीपली वन छोड़कर आ रहे वन विभाग के चौकीदार को नगर के ई रिक्शा चालक ने लोहे की रॉड मारकर चोटिल कर दिया। पीड़ित चौकीदार ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की है।
गौरतलब हो की बीते दिन स्वार कोतवाली की मसवासी चौकी क्षेत्र के गांव खुशहालपुर के जंगल में आवारा कुत्तों के झुंड ने नीलगाय के दो बच्चों को घेर लिया था। कुत्तों के हमले से बचते हुए नीलगाय के बच्चे गांव की ओर आ गए।

जब ग्रामीणों की नजर कुत्तों से घिरे नीलगाय के बच्चों पर पड़ी तो उन्होंने बमुश्किल नीलगाय के बच्चों को कुत्तों के झुंड से बचाया। जिसके बाद वन विभाग के अधिकारियों को जानकारी दी। वन दरोगा शील कुमार के निर्देश पर वन विभाग के चौकीदार हरीशचंद्र अपने भाई की ई रिक्शा से नीलगाय के दोनों बच्चों को पीपली वन छोड़ने चला गया। शाम के समय जब हरीश चंद्र पीपली वन से छोड़कर अपने घर रहमतगंज वापस आ रहा था। जैसे ही हरीश चंद्र मसवासी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचा तो उसके छोटे भाई की पत्नी सवारी के इंतजार में खड़ी दिखाई दी। जिसपर वनकर्मी ने उसे ई रिक्शा में बैठा लिया।

जिस पर नगर निवासी दूसरे ई रिक्शा चालक अर्जुन ने अपना ई रिक्शा उसके आगे लगा दिया और सवारी बैठाने का विरोध करते हुए गाली गलौज करने लगा। इसी दौरान अर्जुन के अन्य साथी भी आ गए। जिन्होंने चौकीदार सहित उसके छोटे भाई की पत्नी के साथ मारपीट शुरू कर दी। लोहे की रॉड लगने से चौकीदार के सिर से खून बहने लगा। जबकि महिला के भी मामूली चोटें आ गई। हंगामे की सूचना पर जब तक चौकी पुलिस पहुंची तब तक आरोपी ई रिक्शा चालक साथियों सहित फरार हो गए। पुलिस ने ई रिक्शा अपने कब्जे में ले पुलिस चौकी में खड़ा करा दिया। पीड़ित ने एक नामजद सहित अज्ञात के खिलाफ तहरीर दे कार्रवाई की मांग की है।

इसे भी पढ़ेबाइक में टक्कर मारने का विरोध करने पर युवक को लाठी मारकर किया घायल

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version